Thursday, 20 September 2018

राफेल पर गुलाम नबी ने सरकार पर साधा निशाना, बोले…देश के डिफेंस में हुआ बड़ा स्केम

रायपुर 13 सितंबर 2018। राफेल मुद्दे पर कांग्रेस ने मोदी सरकार पर जमकर निशाना साधा है। छत्तीसगढ़ दौरे पर आये राज्यसभा में नेता प्रतिपक्ष और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद ने पत्रकारों से चर्चा करते हुए बताया कि…..राफेल की खरीदी में जो गड़बड़ियां हुई उस पर उतनी चर्चा नहीं है। इसका बड़ी वजह है कि चर्चा मीडिया में आती नहीं है। ना सदन के अंदर की और ना बाहर की चर्चा मीडिया में आती है। आज मीडिया में जो बातें दिखाई जाती है वो सरकार तय कर रही है, ऐसा हमारे कार्यकाल में नहीं होता था। यहां इमरजेंसी नहीं लगी लेकिन इमरजेंसी के सारे प्रावधान लागू है। पहले विपक्ष की एक प्रेस कॉन्फ्रेंस की पूरी देश में चर्चा होती थी, अब ऐसा नहीं है।

देश में डिफेंस का एक बड़ा SCAM हुआ है, जिस पर पूरे देश में आंदोलन होता था, पूरे गली मोहल्ले में चर्चा होनी थी, लेकिन ऐसा नहीं हुआ। राफेल खरीदी में कुछ जहाज़ बने बनाये जहाज़ खरीदने थे और कुछ भारत में बनने थे, जर्मनी के साथ मिलकर बनने थे, ये हमारे मेक इन इंडिया का कॉन्सेप्ट था। ये 2012 की बात है। अप्रैल में PM मोदी फ्रांस दौरे पर गए थे। किसी को मालूम नहीं था कि फ्रांस में वो राफेल पर चर्चा करेंगे। दौरे पर साथ जाने के पहले भी इस बात को इनकार किया गया था। लेकिन वहां 126 जहाज़ खरीदने को लेकर पुराने डील को रद्द कर दिया गया। 526 करोड़ में हमने डील की थी, लेकिन उन्होंने वहां नया डील 1617 करोड़ में कर आये। हमने 126 जहाज़ की डील की थी, उन्होंने सिर्फ 36 जहाज़ की डील की।

PM मोदी सदन में बोलते नही, और बाहर वो चुप रहते नहीं, सदन में अब तक वो 4 बार ही बोले हैं गिनकर। प्रश्नकाल में उनका हर सप्ताह सवाल राज्य सभा और लोकसभा में लगते हैं, लेकिन आज तक किसी भी प्रश्नकाल में लगे सवाल का जवाब नहीं दिया, ये भी इतिहास में लिखा जाएगा। 1670 करोड़ के दें। कांग्रेस का आरोप 41000 करोड़ ज्यादा राफेल सौदे में सरकार ने दिया। इतनी बड़ी रकम किसे दिया गया। देश को धोखे में क्यो रखा गया। इतनी बड़ी रकम किसके खाते में गये प्रधानमंत्री जी!!! पुरानी जहाज़ खरीदी की निविदा खत्म करने के लिए कैबिनेट कमिटी से एप्रूव्ड नहीं लिया गया, लौटकर आने के बाद कमिटी के मेम्बर से दस्तखत लिए गये, ये क्राइम है. जब सिपाही चोर बन गया तो जांच कौन करेगा। ये पार्टी दूसरों की तरह हज़ारों में नहीं खेलते, हज़ारों करोड़ में खेलते हैं।

शेयर करे...


बिलासपुर, 07 सितम्बर। मुखबिर की सूचना को गंभीरता से लेते हुए बेलगहन चौकी प्रभारी ने नाकेबंदी कर बिलासपुर एसपी आरिफ शेख़ और एडिशनल एसपी ग्रामीण अर्चना झा को इस मामले की जानकारी दिया। जिनके दिशा निर्देश पर चौकी प्रभारी हेमंत सिंह ने देर रात गांजे की बड़ी खेप रतनपुर की ओर से आ रही महेंद्रा एक्स युवी 500, गाड़ी की तलाशी लिया। जिसमें भारी मात्रा में 1 क्विंटल गांजा गाडी से बरामद की।
पुलिस के द्वारा बताया जा रहा है कि गांजा तस्कर पुलिस को देख गाडी छोड़ भाग निकले। इस संबंध में बेलगहना पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार बताया जा रहा है कि मुखबिर से सूचना मिली कि रतनपुर बिलासपुर की ओर से आ रही महेंद्रा वाहन में भारी मात्रा में गांजा रखकर तस्करी किया जा रहा है । जो कि गुरुवार और शुक्रवार की दरमियानी रात निकलेगी। मुखबिर की सूचना को गंभीरता से लेते हुए चौकी प्रभारी हेमंत सिंह ने इस मामले की सूचना बिलासपुर एसपी आरिफ शेख को दिया इसके साथ ही इसकी जानकारी ग्रामीण एडीशनल एसपी अर्चना झा को दी । जिनके दिशा निर्देश पर उन्होंने कंचनपुर केंदा मार्ग पर नाकेबंदी कर वाहनों की चेकिंग शुरू कर दिया ।
इस दौरान तेज रफ़्तार लक्जरी वाहन पुलिस को चकमा देकर भागने की कोशिश करने लगी । जिनका उन्होंने पीछा किया । पुलिस की गाड़ी को अपनी ओर आता हुआ देख कर गांजा तस्कर कंचनपुर डेम के पास गाडी छोड़ कर जंगल की ओर भाग खड़े हुए । जिन्हें की पुलिस के द्वारा काफी दूर तक दौड़ाया गया पर वह नहीं मिले ।जब पुलिस के द्वारा महिंद्रा एक्स.यू.व्ही.500 क्रमांक यू.पी 70 सी.बी.सी. 4350 की तलाशी ली गई तो उसमें उसने पीछे सीट के पीछे कंबल से ढका खाकी रंग में टेप से चिपका हुआ 50 पैकेट गांजा मिला जिसकी वजन एक क्विंटल तौलने पर हुआ । जिसे कि पुलिस ने जप्त कर लिया है। वही लग्जरी वाहन को भी जप्त कर लिया है । जबकि पुलिस के द्वारा जब्त गांजे की अंतर्राष्ट्रीय मार्केट में किमत 10 लाख रुपये के आसपास बताई जा रही है । वही मशरुका 16 लाख रुपए बताया जा रहा है। 0/18 धारा 20 नारकोटिक्स एक्ट 42 (2) 50, 52, 55, 57 नारकोटिक्स एक्ट प्रावधान के तहत कार्रवाई की गई है ।
पुलिस के मुताबिक आरोपी तस्कर उड़ीसा से गांजे की खेप लेकर यूपी सप्लाई करने जा रहे थे। वही आरोपी तीनों युवकों की पुलिस सरगर्मी से तलाश में जुटी हुई है जंगल में सर्चिंग की जा रही है समाचार लिखे जाने तक आरोपी नहीं पकड़े गए हैं।

शेयर करे...

HINDSAT CONTACT

Address :-

Hindsat Bhawan, Near Commissioner Office, Naya Munda Road, Maharani Ward, Jagdalpur

Contact :-

+91 9425258900, +91 7587216999

Email :-

Hindsat365@rediffmail.com

Newsletter

Subscribe to our newsletter. Don’t miss any news or stories.

We do not spam!