Monday, 22 October 2018

दिल्ली पहुंचे रूसी राष्ट्रपति पुतिन

दिल्ली पहुंचे रूसी राष्ट्रपति पुतिन
एस-400 मिसाइल डिफेंस डील पर लग सकती है मुहर
नई दिल्ली, 04 अक्टूबर । रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर दो दिन के भारत दौरे के लिए नई दिल्ली पहुंच चुके हैं। विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने राष्ट्रपति पुतिन का स्वागत किया। पुतिन के इस दौरे को दोनों देशों के लिए रणनीतिक संबंधों के हिसाब से महत्वपूर्ण माना जा रहा है। शुक्रवार को पीएम नरेंद्र मोदी और व्लादिमीर पुतिन के बीच औपचारिक मीटिंग होगी। इस दौरान दोनों देशों के बीच एस-400 मिसाइल डिफेंस डील हो सकती है।
पुतिन के दौरे का असर अमेरिका और भारत के संबंधों पर भी देखने को मिल सकता है। नई दिल्ली को इस बात की जानकारी है कि रूस के साथ डील के चलते उसे अमेरिकी प्रतिबंधों को सामना करना पड़ा सकता है। हाई-लेवल डेलिगेशन संग आ रहे व्लादिमीर पुतिन के साथ विदेश मंत्री सर्जेइ लावरोव भी होंगे। गुरुवार की शाम को पुतिन पीएम मोदी के साथ डिनर कर सकते हैं।
शुक्रवार को दोनों देशों के बीच औपचारिक मीटिंग के बाद कई अहम समझौते किए जा सकते हैं। डिफेंस अग्रीमेंट्स के साथ ही भारत और रूस के बीच स्पेस को-ऑपरेशन मेकेनिज्म पर भी करार हो सकता है। पीएम मोदी की ओर से 2022 में चांद में मानव को भेजने के मिशन के ऐलान के बाद यह करार महत्वपूर्ण होगा।
इस बीच अधिकारी अमेरिका से बातचीत करने में जुटे हैं ताकि एस-400 डील और भारत-रूस संबंधों के लिए उसे तैयार किया जा सके। हाल ही में 2+2 टॉक के दौरान मैटिस और पॉम्पियो ने तकरीबन एक घंटे तक राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोभाल से इस संबंध में बात की थी।
रक्षा जानकारों की मानें तो अमेरिका चाहता है कि भारत रूस से यह एयर डिफेंस सिस्टम न खरीदे। जानकारों के मुताबिक यूएस की चिंता इस बात को लेकर है कि एस-400 का इस्तेमाल अमेरिकी फाइटर जेट्स की स्टील्थ (गुप्त) क्षमताओं को टेस्ट करने के लिए किया जा सकता है। इतना ही नहीं, माना जा रहा है कि इस सिस्टम से भारत को अमेरिकी जेट्स का डेटा मिल सकता है। अमेरिका को यह डर भी सता रहा है कि यह डेटा रूस या दुश्मन देश को लीक किया जा सकता है।

Tags:
शेयर करे...

HINDSAT CONTACT

Address :-

Hindsat Bhawan, Near Commissioner Office, Naya Munda Road, Maharani Ward, Jagdalpur

Contact :-

+91 9425258900, +91 7587216999

Email :-

Hindsat365@rediffmail.com

Newsletter

Subscribe to our newsletter. Don’t miss any news or stories.

We do not spam!