Monday, 22 October 2018

(श्रीनगर)तीन आतंकवादियों को ढेर कर शहीद हुआ सर्जिकल स्ट्राइक करने वाला जवान
श्रीनगर ,25 सितंबर । वर्ष 2016 में पाक अधिकृत कश्मीर में घुसकर आतंकवादियों के खिलाफ सर्जिकल स्ट्राइक करने वाले विशेष दल में शामिल भारतीय सेना के लांस नायक संदीप सिंह सोमवार को कश्मीर में एक एनकाउंटर के दौरान शहीद हो गए। वीरगति को प्राप्त होने से पहले पैरा कमांडो संदीप सिंह और उनके साथियों ने तीन आतंकवादियों को भी मार गिराया। इस दौरान लांस नायक सिंह ने अदम्य साहस का परिचय दिया।
सेना के सूत्रों ने बताया कि पंजाब के गुरदासपुर के रहने वाले संदीप सिंह 4 पैरा कमांडो टीम के साथ तंगधार सेक्टर के गगाधारी नार इलाके में सर्च ऑपरेशन का नेतृत्व कर रहे थे। इस दौरान उन्हें कुछ संदिग्ध गतिविधि नजर आई। इसके बाद उन्होंने अपनी टीम के साथ आगे बढ़कर आतंकवादियों का पता लगाने की कोशिश की।
सर्जिकल स्ट्राइक करने वाली टीम का हिस्सा थे संदीप
आमने-सामने की लड़ाई में सिंह ने तीन आतंकवादियों को ढेर कर दिया। साथ ही आतंकवादियों के घातक हमले से अपने साथियों की जान बचाई। एक सूत्र ने कहा, इस साहसिक कार्रवाई के दौरान वह घायल हो गए लेकिन आतंकवादियों के खिलाफ गोलियां बरसाना जारी रखा। इसी बीच एक गोली उनके सिर में जा लगी। अस्पताल ले जाते समय लांस नायक सिंह शहीद हो गए।
सेना के एक शीर्ष अधिकारी ने कहा, अपनी सुरक्षा को ध्यान न देकर अपनी टीम की सुरक्षा के लिए तीन आतंकवादियों को मार गिराना उनके वीरतापूर्ण प्रदर्शन को दर्शाता है। इन आतंकवादियों के पास से बड़ी संख्या में हथियार बरामद हुए हैं। उन्होंने बताया कि लांस नायक सिंह के परिवार में पत्नी और 5 साल का बेटा है। अधिकारी ने बताया कि सिंह दो साल पहले सर्जिकल स्ट्राइक करने वाली टीम का हिस्सा थे।
आतंकी घुसपैठ को सुरक्षाबलों ने किया नाकाम
बता दें कि उत्तरी कश्मीर के कुपवाड़ा स्थित तंगधार में आतंकी घुसपैठ को सुरक्षाबलों द्वारा रविवार को नाकाम किया गया था। सेना ने सोमवार को तीन और आतंकियों को मार गिराया। इस कार्रवाई में कुल पांच आतंकी मारे गए। बताया जा रहा है कि आतंकियों का एक दल रविवार रात कुपवाड़ा के तंगधार सेक्टर में एलओसी के रास्ते घुसपैठ की कोशिश कर रहा था।
इसी दौरान सेना के जवानों ने संदिग्ध हरकत देखकर आतंकियों को ललकारा, जिसके बाद घुसपैठियों ने जवानों पर गोलीबारी शुरू कर दी। इस फायरिंग में सेना ने मुंहतोड़ जवाब देते हुए दो आतंकियों को मौके पर ही मार गिराया जबकि तीन अन्य वहां से फरार हो गए। इसके बाद सेना ने तत्काल नियंत्रण रेखा और सीमा पर घुसपैठ की आशंका का अलर्ट जारी करते हुए तंगधार सेक्टर के अलग-अलग इलाकों में गहन तलाशी शुरू कर दी थी। बाद में ये आतंकी भी लांस नायक सिंह की टीम ने मार गिराए।

शेयर करे...

(संशोधित-महत्वपूर्ण)(रायपुर) जेल भरो आंदोलन को सफल बनाने पुनिया-सिंहदेव सहित कांग्रेस के कई दिग्गज नेताओं एवं बड़ी संख्या में कार्यकर्ताओ ने दी गिरफ्तारी, हुए रिहा
0-आंदोलन लगातार जारी रहेगा-कांग्रेस
रायपुर, 25 सितंबर । मंत्री मूणत के कथित सीडीकांड में पीसीसी प्रमुख भूपेश बघेल की गिरफ्तारी का विरोध करते हुए आज प्रदेश भर में कांग्रेसजनों ने जेल भरो आंदोलन किया। राजधानी रायपुर में पीसीसी के प्रभारी पीएल पुनिया, टीएस सिंहदेव, सत्यनारायण शर्मा, अमितेश शुक्ल,मो. अकबर,रविन्द्र चौबे, धनेन्द्र साहू, सांसद ताम्रध्वज साहू, गुरूमुख सिंह होरा, प्रमोद दुबे, श्रीमती किरणमयी नायक, विकास उपाध्याय सहित अन्य वरिष्ठ नेताओं सहित बड़ी संख्या में कार्यकर्ताओ ने गिरफ्तारी दी। इसके अलावा प्रदेश के अन्य शहरों में भी विधायकों व पदाधिकारियों सहित कांग्रेसजनों ने गिरफ्तारियां दी। हालांकि गिरफ्तारी के कुछ देर बाद सभी को रिहा भी कर दिया गया।
जेल भरो आंदोलन को असफल करने पुलिस प्रशासन ने अपनी पूरी ताकत झोंक दी, लेकिन कांग्रेसी अपने आंदोलन में एक तरह से पूरी तरह से सफल हो गए। राजधानी में जहां कांग्रेसजनों ने पुलिस को चकमा देकर केन्द्रीय जेल पहुंच कर अपनी गिरफ्तारी की मांग की तो वहीं पुलिस ने आंदोलन को दबाने कल रात से ही गिरफ्तारियां शुरू कर दी थी। इसके तहत बस्तर, सरगुजा संभाग से आने वाले कांग्रेस के जनप्रतिनिधियों और विधायकों को कल रात में ही गिरफ्तार कर लिया गया था। कई कांग्रेस नेताओं को उनके घर में ही नजर बंद कर दिया गया। इधर पीसीसी प्रमुख की गिरफ्तारी की सूचना मिलते ही आज प्रदेश कांग्रेस प्रभारी पीएल पुनिया भी पहुंच गए। प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय राजीव भवन में सभी दिग्गज कांग्रेसी एकत्रित हुए, यहां रणनीति बनी और इसके बाद आंदोलन को तेज कर दिया गया। कांग्रेस के प्रदेश प्रभारी पीएल पुनिया, नेता प्रतिपक्ष विधानसभा टीएस सिंहदेव, डा. चरणदास महंत, रविन्द्र चौबे, मोहम्मद अकबर, सत्यनारायण शर्मा, कार्यकारी अध्यक्ष शिव कुमार डहरिया सहित कांग्रेस के अन्य नेताओं को पुलिस ने मंडी गेट के पास रोक लिया। नेताओं को रोके जाने के बाद कांग्रेस कार्यकर्ता भड़क गए और पुलिस-कांग्रेसजनों के बीच यहां जमकर झूमाझटकी हुई। इसे देखते हुए कांग्रेस के सभी नेता सड़क पर ही बैठ गए। बाद में पुलिस ने सभी कांग्रेस नेताओं की गिरफ्तारी का ऐलान कर दिया। गिरफ्तारी के बाद सभी को अस्थायी बनाकर रखा गया, जहां कुछ देर के बाद सभी को रिहा भी कर दिया गया।
पीएल पुनिया की मौजूदगी में कांग्रेस पदाधिकारियों की हुई बैठक के बाद श्री पुनिया ने ऐलान कर दिया है कि जेल भरो आंदोलन अब अनिश्चितकाल के लिए चलेगा। उन्होंने कहा कि जब तक न्याय नहीं मिलेगा और भाजपा का तानाशाही रवैया खत्म नहीं होगा, कांग्रेस का आंदोलन जारी रहेगा। आंदोलन के अगले चरण में 26 सितम्बर को सभी ब्लाक मुख्यालयों में तथा 27 सितम्बर को जिला मुख्यालयों में धरना/प्रदर्शन एवं जेल-भरो आंदोलन किये जाने का निर्णय लिया गया है। श्री पुनिया ने यह भी कहा कि आंदोलन आगे और भी व्यापक रूप लेग

शेयर करे...

(महत्वपूर्ण)(नईदिल्ली)जान बूझकर कर्ज नहीं लौटाने वालों पर होगी कार्रवाई
0-जेटली की बैंक प्रमुखों के साथ बैठक
नई दिल्ली ,25 सितंबर । केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली सरकारी बैंकों के प्रमुखों के साथ बैठक खत्म हो गई है। वित्त मंत्री ने बैंकों से कहा कि वह धोखाधड़ी में लिप्त और जान बूझकर कर्ज नहीं लौटाने वालों के खिलाफ कारगर कदम उठाएं। सूत्रों के मुताबिक बैठक में बैंकों में एनपीए निपटारे और बैंकों में पूंजी की जरूरतों पर चर्चा हुई।
बैठक के एजेंडा में बैंकों से कर्ज वसूली की प्रक्रिया मांगी गई है। इस बैठक में नॉन कोर एसेट बेचने की प्रोग्रेस रिपोर्ट, एमएसएमई लेंडिंग बढ़ाने के उपायों और ग्रामीण इलाकों में लेंडिंग बढ़ाने पर भी चर्चा की गई। वित्तमंत्री के अलावा बैठक में 21 सरकारी बैंकों के सीईओ भी मौजूद थे।
बैंकों के आंकड़ों पर एक नजर
सरकारी बैंकों का ग्रॉस एनपीए मार्च 2018 तक करीब 12 फीसदी रहा है।
आरबीआई के मुताबिक, मार्च 2015 तक एनपीए 3.23 लाख करोड़ रुपए था।
मार्च 2018 में एनपीए का आंकड़ा 10.35 लाख करोड़ पहुंच गया।
वहीं, बैंकों ने पहली तिमाही में 36551 करोड़ रुपए की कर्ज वसूली की है।
ये आंकड़ा पिछले साल की तिमाही के मुकाबले 49 फीसदी ज्यादा है।
वहीं, पिछले साल बैंकों ने की कुल 74562 करोड़ रुपए की कर्ज वसूली की है।
साल 17-18 में बैंकों का कुल घाटा 87357 करोड़ रुपए दर्ज हुआ।
सरकारी बैंकों में सबसे ज्यादा घाटा पंजाब नेशनल बैंक को हुआ है।
इंडियन और विजया बैंक को छोड़कर बाकी सभी 19 बैंकों को घाटा हुआ है।
००

शेयर करे...

HINDSAT CONTACT

Address :-

Hindsat Bhawan, Near Commissioner Office, Naya Munda Road, Maharani Ward, Jagdalpur

Contact :-

+91 9425258900, +91 7587216999

Email :-

Hindsat365@rediffmail.com

Newsletter

Subscribe to our newsletter. Don’t miss any news or stories.

We do not spam!